22 साल के इस लड़के ने उड़ा रखी है गुजरात सरकार की नींद

अहमदाबाद। गुजरात में इन दिनों आरक्षण की आग भड़की हुई है। राज्य में ‘पटेल आरक्षण’ को लेकर चल रहा आंदोलन सरकार के लिए अब सिरदर्द बन चुका है। पटेल समाज शिक्षा और सरकारी नौकरियों में आरक्षण की मांग कर रहा है। वहीं, सरकार को पाटीदारों द्वारा चलाए जा रहे इस आंदोलन से निपटने के लिए बहुत ज्यादा मशक्कत करनी पड़ रही है। शहर में जगह-जगह अपनी मांग के पक्ष में उतरे लोग आरक्षण से कम की बात करने को भी तैयार नहीं हैं। राज्य में पटेल समुदाय को बीजेपी के प्रमुख वोट बैंकों में से एक माना जाता है।
22 वर्षीय लड़के ने उड़ा रखी है सरकार की नींद:
इस आंदोलन द्वारा गुजरात सरकार की नींद उड़ा देने वाले शख्स का नाम है हार्दिक पटेल। सिर्फ 22 वर्ष के हार्दिक ने ही 6 जुलाई को गुजरात के महेसाणा में आयोजित एक छोटी-सी रैली को अब विशाल रूप दे दिया है। वे हार्दिक पटेल ही हैं, जिन्होंने सोमवार को सूरत में आयोजित रैली में 5 लाख से अधिक पटेलों को एक ही जगह एकत्रित कर दिखाया। इतना ही नहीं, हार्दिक अब अहमदाबाद में 25 अगस्त को महारैली का आयोजन करने जा रहे हैं, जिसमें 25 लाख पाटीदार पटेलों के एकत्रित होने की बात कही जा रही है। हालांकि, गुजरात सरकार ने इस महारैली के लिए अब तक अनुमति नहीं दी है।
अहमदाबाद से करीब 80 किलोमीटर दूर वीरमगाम तहसील के चंद्रनगर गांव में रहने वाले हार्दिक पटेल वाणिज्य विषय से स्नातक हैं। उन्होंने साल 2011 में सेवादल से अलग होकर वीरमगाम में एसपीजी यानी सरदार पटेल सेवादल शुरू किया था। हार्दिक के पिता बीजेपी पार्टी से जुड़े हुए हैं।
गुजरात सरकार ने 7 मंत्रियों की समिति बनाई:
हार्दिक पटेल के दो महीने के आंदोलन के बाद गुजरात की सीएम आनंदीबेन पटेल ने 7 मंत्रियों की एक समिति बना दी है जो मांगों पर विचार कर रही है, लेकिन हार्दिक पटेल का कहना है कि इस समिति पर उन्हें कोई भरोसा नहीं है।
आंदोलन के पीछे राजनीतिक समर्थन की बात:
हार्दिक बताते हैं कि पिछले एक महीने के दौरान उन्होंने राज्य के 12 जिलों का दौरा किया है। साथ ही, पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक के तौर पर कई रैलियों को भी संबोधित किया है। हालांकि, इस आंदोलन के लोकप्रिय होने और इसे मिले समर्थन के पीछे मजबूत राजनैतिक समर्थन का हाथ बताया जा रहा है, लेकिन हार्दिक किसी भी तरह के राजनैतिक प्रभाव की बात से साफ इनकार करते हैं। यह बात अलग है कि उनके पिता बीजेपी के कार्यकर्ता हैं।
हाल ही में सामने आए वीडियो को लेकर विवाद:
हार्दिक पटेल का एक वीडियो इन दिनों पूरे गुजरात में वायरल हो चला है। वीडियो में हार्दिक पटेल को पिस्तौल, राइफल और तलवार के साथ ‘योद्धा’ के रूप में फिल्माया गया है। वहीं, वीडियो के बैकग्राउंड में सनी देओल की फिल्म ‘मां तुझे सलाम’ का टाइटल सांग. ‘रुकना कभी सीखा नहीं, झुकना हमें आता नहीं’ है। इस गीत के बीच एक जगह ‘फूंक डालो दुश्मनों को, काट डालो इन सबको जैसे शब्द भी सेट किए गए हैं।’

 

You must be logged in to post a comment Login