योग दिवस को दारुल उलूम का समर्थन, कहा, फतवा जारी नहीं किया

नई दिल्ली

भारत सरकार के योग दिवस को मुस्लिमों की प्रमुख धार्मिक संस्था दारुल उलूम का समर्थन मिला है। दारुल उलूम ने कहा है कि योग को मजहब से जोड़कर देखना ठीक नहीं है ।

उलूम की ओर से जारी बयान में योग को महज एक व्यायाम कहा गया है। मालूम हो कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने योग दिवस का विरोध किया था। बोर्ड सदस्यों ने पीएम मोदी से मिलकर इसपर अपना विरोध जताने की बात कही थी।

दारुल उलूम के प्रवक्ता अशरफ उरमानी ने कहा कि योग के खिलाफ फतवा जारी नहीं किया गया है।

भारत सरकार 21 जून को व्यापक स्तर पर योग दिवस मनाने की तैयारी कर रही है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक साथ कई लोगों के योग करने से इसे ‘गिनेस बुक ऑफ वर्ल्ड रेकॉर्ड’ में दर्ज कराने की भी तैयारी है।

हालांकि, भारत में कुछ संस्थाओं के अलावा राजनीतिक दल भी इस मुहिम का विरोध कर रहे हैं।

You must be logged in to post a comment Login