‘बाहरी’ अकबर नहीं, महाराणा प्रताप हैं महान: कल्याण सिंह

जयपुर

अभी कुछ हफ्ते पहले ही केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने महाराणा प्रताप की तुलना अकबर की महानता से की थी और अब राजस्थान के राज्यपाल कल्याण सिंह ने कहा कि वास्तव में अकबर नहीं, महाराणा प्रताप महान कहलाने के अधिकारी हैं । कल्याण सिंह ने अकबर को बाहरी बताकर नई बहस भी छेड़ दी।

रविवार को भामाशाह सम्मान समारोह में कल्याण सिंह ने कहा, ‘अकबर ने राष्ट्र की सेवा नहीं की। उसके नाम के आगे से ‘महान’ हटा देना चाहिए।’ कल्याण सिंह ने आगे कहा कि भारतीय इतिहास में महाराणा प्रताप की तुलना कुछ ही लोगों के साथ की जा सकती है।

1990 के दशक में उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार के मुख्यमंत्री रहे कल्याण सिंह ने कहा कि अकबर ‘बाहर’ से आया था और उसने इस देश पर राज किया। ‘महान’ शब्द महाराणा प्रताप के नाम के साथ लगना चाहिए, वह धरतीपुत्र थे और इस मातृभूमि के लिए लड़ते हुए उन्होंने अपनी जान दे दी।

18 मई को प्रतापनगर में महाराणा प्रताप की प्रतिमा अनावरण के मौके पर राजनाथ सिंह ने कहा था कि जैसे अकबर महान थे, वैसे ही महाराणा प्रताप भी महान थे।

कल्याण सिंह महाराणा प्रताप के बेहद करीबी रहे भामाशाह के जीवन पर आयोजित एक समारोह में बोल रहे थे। भामाशाह ने मुगलों के खिलाफ लड़ने के लिए अपनी सारी संपत्ति महाराणा प्रताप को दान कर दी थी।

उन्होंने कहा कि पाठ्य-पुस्तकों में महाराणा प्रताप की महानता और जीवन के बारे में जानकारी दी जानी चाहिए। कल्याण सिंह ने जयपुर में महाराणा प्रताप की प्रतिमा स्थापित किए जाने की भी मांग की।

राज्य के शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी और अन्य मंत्री भी पाठ्य-पुस्तकों में अकबर को महान बताए जाने पर आपत्ति प्रकट कर चुके हैं। राजस्थान की बीजेपी सरकार राज्य की पाठ्य-पुस्तकों में बदलाव कर रही है।

You must be logged in to post a comment Login