चंद्रबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश को बांटने के लिए सोनिया गांधी को बताया ‘विश्वासघाती’

आंध्र प्रदेश: अपनी कथित रिश्वत पेशकश को लेकर निशाने पर आए आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन. चंद्रबाबू नायडू ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव पर आरोप लगाया कि वह उनके खिलाफ षड्यंत्र रच रहे हैं। नायडू ने इसके साथ ही आंध्र प्रदेश को बांटने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक ‘विश्वासघाती’ करार दिया।

वोट के लिए नोट विवाद मामले में अपना नाम घसीटे जाने को लेकर कड़ा हमला बोलते हुए नायडू ने राव को चेतावनी दी कि चीजों को अधिक नहीं खींचा जाना चाहिए। नायडू ने यह हमला तब किया है जब तेलंगाना सरकार ने उनका फोन टैप कर लिया।

उन्होंने कहा, ‘मैंने पहले ही कहा था। वे भ्रष्टाचार और षड्यंत्र की राजनीति में लिप्त हुए हैं। कांग्रेस, टीआरएस और वाईएसआर कांग्रेस पार्टी फिर से मेरे खिलाफ षड्यंत्र कर रही हैं। मैंने ईमानदारी से जनता की सेवा के लिए जीवन जिया है। आंध्र प्रदेश जहां विकास कर रहा है, ये निपुण केसीआर (तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव) कुछ भी करने में असफल हैं और वह मेरे खिलाफ षड्यंत्र कर रहे हैं।’

नायडू अपनी सरकार के गठन की पहली वर्षगांठ पर आंध्र प्रदेश सरकार की ओर से आयोजित ‘महासंकल्प’ जनसभा को संबोधित कर रहे थे। वह वोट के लिए नोट विवाद में एक मनोनीत विधायक के साथ अपनी कथित बातचीत का टेप सामने आने के एक दिन बाद बोल रहे थे। एक मनोनीत विधायक को कथित तौर पर रिश्वत देने का प्रयास करने के लिए तेदेपा के एक विधायक को गिरफ्तार किया गया है।

नायडू ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर हमला बोलते हुए उनकी पार्टी पर आंध्र प्रदेश का बंटवारा करते समय आंध्र प्रदेश के साथ अन्याय करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘जब राज्य का दो जून को बंटवारा किया गया था, हमने नव निर्माण दीक्षा आयोजित किया। वह दिन सोनिया गांधी के मूल देश इटली का स्वतंत्रता दिवस था। उस दिन हमारे पेट पर लात मारी गई। सोनिया गांधी ऐसी नेता हैं। हम अपने जीवन में दो जून को भुला नहीं सकते।’

इस बीच कांग्रेस ने इस मामले में नायडू के इस्तीफे की मांग की और उन्हें चुनौती दी कि वह झूठ पकड़ने वाली मशीन से गुजरे, क्योंकि वह इससे इनकार कर रहे हैं कि टेप में आवाज उनकी है।

कांग्रेस प्रवक्ता शोभा ओझा ने कहा, ‘हम मांग करते हैं कि आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू इस्तीफा दें। इतना बड़ा घोटाला सामने आया है। बीजेपी और प्रधानमंत्री चुप क्यों हैं?’

You must be logged in to post a comment Login